Premature Ejaculation Tips And Techniques

शीघ्रपतन युक्तियाँ और तकनीक

रिलेशनशिप को सफल बनाए रखने के लिए जरूरी है कि दोनों ही पार्टनर यौन क्रिया के दौरान पूरी तरीके से संतुष्ट हों, लेकिन कई पुरुष शीघ्र पतन या अर्ली इजेकुलेशन (Early Ejaculation) की समस्या के चलते महिला को पूर्ण यौन संतुष्टि नहीं दे पाते है जिसकी वजह से वीर्य स्खलित होने के बाद पुरुष तो चरमोत्कर्ष पर पहुँच जाता है लेकिन महिला साथी शीघ्रपतन के चलते ‘क्लाइमेक्स’ यानि की (ऑर्गेज्‍म) तक नहीं पहुंच पाती, जिससे असंतुष्टि, ग्लानी, हीन-भावना, नकारात्मक विचारो का आना एवं अपने साथी के साथ संबंधों में तनाव आना मुमकिन है।

ज्यादातर अध्धयन में पाया गया हैं कि शीघ्र पतन कोई गंभीर बीमारी नहीं है बल्कि एक प्रकार की मानसिक आदत होती है जिसको छोटी छोटी शीघपतन से जुड़े अभ्याश करके आसानी से काबू किया जा सकता है।

1) उचित समय और उचित स्थान का चयन :-

सेक्स के लिए उचित समय और उचित स्थान का चयन करना अत्यंत आवश्यक हैं । ऐसे स्थान और समय का चयन करें जो दोनों सेक्स पार्टनर के लिए प्रतिकूल हों । शांत और रोमांटिक हों जिससे आप और आप का साथी खुल कर enjoy कर सके ।

2) फोरप्ले :-

सेक्स के दौरान फोरप्ले का बहुत महत्तवपूर्ण स्थान है। फोरप्ले से आपके सेक्स में नवीनता आती है। क्या आपको पता है की स्त्री की कामेच्छा पुरुष की कामेच्छा की अपेक्षा थोड़ी देर से जागृत होती है. इसी असमानता को बराबर करने के लिये संभोग के पूर्व कुछ क्रियाएं जैसे चुम्बन,हॉट बाते,बाहों में जकड़ना,सेंसिटिव बॉडी पार्ट्स के साथ खेलना शामिल है जिन्हे फोरप्ले कहा जाता है.। संभोग की प्रक्रिया के पहले अपने पार्टनर को उत्तेजित करने में अधिक समय लगाएं। यदि इस दौरान इरेक्शन हो जाए तो भी चिंतित न हों। सेक्स करने में जल्दबाजी बिलकुल भी न करें। हमेशा याद रखें एक स्त्री को उत्तेजित होने में पुरुष से ज्यादा समय लगता है । यह आपके लिए एक उपयोगी premature ejaculation treatment हो सकता है ।

3) Stop-Start Technique :-

सेक्स संबंध बनाने में कोई जल्दबाजी न करें। संभोग की प्रक्रिया शुरू करने के बाद बीच-बीच में रुकें और फिर शुरू करें जब ऐसा लगे की वीर्य निकलने वाला है तो रुक जाये इस दौरान अपने पार्टनर का चुंबन करें और उसके नाजुक अंगों को सहलाएं। । ऐसा बार-बार करने से वीर्य को लम्बे समय तक रोकने का अभ्यास होता हैं और शीघ्रपतन में लाभ होता हैं। पीड़ित व्यक्ति में वीर्य स्खलन का अंतराल और क्लाइमेक्स के अंतराल को बढ़ाने के लिए यह अभ्यास करने के लिए कहा जाता हैं।

4) Stop Squeeze Technique :-

सेक्स करते समय जब पुरुष को लगे की वीर्य निकलने ही वाला है तब अपने साथी से गुप्तांग / Glans Penis के निचे दबाने को कहे। इतने जोर से दबाए की वीर्य न निकले और दर्द भी न हो। जब ऐसा लगे की अब वीर्य निकलने की इच्छा समाप्त हो गयी है तब छोड़ दे। अब आधा मिनिट रुक कर दोबारा सेक्स करे और जब वीर्य निकलने का एहसास हो तो दोबारा दबाकर रखे। इस तरह यह अभ्यास 8 से 10 बार करे। धीरे-धीरे अभ्यास के साथ वीर्य निकलने का अंतराल बढ़ जाता हैं । यह premature ejaculation treatment in hindi के बेहतरीन तरीकों में से एक हो सकता है ।

5) हस्त मैथुन / Masturbation :-

शीघपतन से पीड़ित पुरुष को सेक्स करने के 1 या 2 घंटे पहले सामान्य हस्तमैथुन करने को कहा जाता है। ध्यान रखे हस्त मैथुन करने के दौरान कोई जल्दबाजी न बरते इससे बाद में सेक्स करते समय जल्द वीर्य स्खलन नहीं होता हैं। यह क्रिया अधिक उम्र के पुरुषों में काम नहीं आती क्योंकि उनमे हस्तमैथुन करने से दोबारा जल्द सेक्स इच्छा जागृत नहीं हो पाती हैं।

6) Kegel Exercise :-

शीघपतन के इलाज के लिए यह व्यायाम काफी फायदेमंद हैं। इसका अभ्याश करने की विधि है – मूत्र विसर्जन करते समय अचानक मूत्र के बहाव को रोक दे और कुछ सेकंड के अंतराल बार फिर मूत्रविसर्जन करे। मूत्र के बहाव को रोकने के लिए जिस मांसपेशियों का इस्तेमाल होता हैं उन पर ध्यान दे। इसमें जांघ, पृष्ठ और पेट के मांसपेशियों को ढीला रखना हैं। रोजाना इन पेशियों की कसरत करने से शीघ्रपतन में लाभ होता हैं।

7) Use Condom | कंडोम का इस्तेमाल :-

शीघपतन के इलाज में कंडोम की भी अहम भूमिका है । कंडोम के इस्तेमाल से लिंग को जल्द संवेदना नहीं मिलती है और उत्तेजना देरी से मिलने से शीघ्रपतन नहीं होता है । लेकिन कंडोम की गुणवत्ता भी देखनी जरुरी है हमेशा अच्छे क्वालिटी के कंडोम का ही इस्तेमाल करे । यह premature ejaculation treatment in hindi के बेहतरीन तरीकों में से एक हो सकता है ।

8) Change Sex Position :-

इरेक्शन समय में सेक्स पोजीशन का भी काफी महत्व हैं । हमेशा ऐशे सेक्स पोजीशन का ही चयन करे । टॉप सेक्स पोजीशन जिसमे पुरुष स्त्री के ऊपर रहता हैं वीर्य स्खलन को आसानी से कण्ट्रोल कर सकता हैं और अपने सेक्स समय को बढ़ा सकता हैं ।

9) Balance Sex date :-

ज्यादा और कम सेक्स दोनों ही उचित नही हैं । इसलिए अपने सेक्स लाइफ में proper balance बना कर रखे । सप्ताह में 1 से 2 बार सेक्स करना उपयुक्त हैं ।

10) habits :-

अपने रोजाना छोटी छोटी आदतों पर भी ध्यान दे । जैसे सुबह उठना, जल्दी सोना, तनावमुक्त रहना, regular health checkup, खान-पान जैसे daily activities को सुनयोजित करके premature ejaculation treatment किया जा सकता हैं ।

11) नशामुक्त जीवन :-

मॉडर्न तौर तरीको में हम इतने खो गये है हमे यह भी ज्ञात नहीं है हमारे लिए क्या सही है और क्या गलत नशा ऐशी चीज है जो हमारे शरीर को खोखला बना देती हैं । सिगरेट शराब तम्बाखू हमारे प्रजनन छमता को कम करती है जिससे शरीर में ढंग से वीर्य नहीं बन पाता है । शीघपतन से छुटकारा पाने के लिए नशामुक्त जीवन जीने की आदत डालना जरुरी हैं

Write a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *