IMC TREATMENT FOR योनि शिथिलता

IMC TREATMENT FOR योनि शिथिलता

लक्षण:

  • प्रसव के समय कम द्रदों में ज्यादा जोर लगवाने से गर्भाशय का अपनी जगह से हिल जाना ।

  • प्रसव के पश्चात् जल्दी ही भारी वजन इत्यादि उठाना।

  • श्वेत प्रदर (लिकोरिया) का ज्यादा समय तक रहने से गर्भाशय का अपने स्थान से हिल जाना।

  • कमर में दर्द रहना और गर्भाशय का योनि मार्ग से बाहर दिखाई देना।

सुझावः

  • अधिक भारी वस्तुओं को ना उठायें।

  • पाव के बल ना बैठे ।

  • मैथुन से परहेज करें ।

उपचार:

  • 30-30 मि.ली. एलो संजीवनी जूस – एलो वेरा जूस + हिमालयन बेरी + श्री तुलसी 2-2 बूँदे सुबह व शाम खाली पेट सेवन करें।

  • टैबलेट व्हीट गोल्ड 1 सुबह 1 शाम सेवन करें।

  • टैबलेट टरू नाइट पावर 1 सुबह 1 शाम सेवन करें।

  • टैबलेट डेली डाइट 1 सुबह 1 शाम सेवन करें।

  • टैबलेट प्यारी सहेली 1 सुबह 1 शाम सेवन करें।

  • सिरप प्यारी सहेली 10 मि.ली. सुबह 10 मि.ली. शाम सेवन करें।

  • कच्ची फिटकरी के जल से योनि मार्ग को धोकर फेमी टाईट जैल का सुबह-रात को योनिमार्ग में प्रयोग करें।

Click Here To Get All Products Upto 18-40% DISCOUNT At Your Location#imcregistration#imchealthcard#joinincbusiness#dgayurveda

Click Here to join US for daily health updates,imc produts details,treatments etc……
#imcbusinessinstagram#dgayurvedaINSTAGRAM-FOLLOW-GIF
imcbusinessfacebook#dgayurvedafacebook#imcproductsfacebook#imcbusinessgoogleplus#dgayurvedagoogleplus#imcproducts#imcbusinesstwitter#dgayurvedatwitter#imcproducts  #imcbusinessyoutube#dgayurvedayoutube#imc#imcproducts

 

 

Click Here To Start Your Own Business/Open Own Ayurvedic Store/Work Part Time Or Full
#imcbusiness#dgayurveda#imcproducts#joinimcbusiness

Write a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *