IMC HERBAL FACE PACK TUBE

IMC HERBAL FACE PACK TUBE

हर्बल फेस पैक ट्यूब

IMC FACE PACK TUBE (200 GMS)

एलोवेरा ,नीम व चंदन युक्त

  • मुंहासों, धब्बों, महीन लकीरों, फाइन लाइन्स तथा लाल चकत्तों को रोकने में सहायक है।

  • मृत कोशों को पुनर्जीवित करने में भी सहायक है।

  • त्वचा को नया जीवन देने में मदद करता है।

  • मृत त्वचा को हटाने में सहायक है।

  • त्वचा को संक्रमण से बचाता है।

  • लगातार उपयोग करने से त्वचा में निखार लाने मेंलाभदायक है।

  • त्वचा की खोई चमक व आभा को वापिस लाता है।

  • त्वचा को साफ, मुलायम व कोमल बनाने में सहायक है।

IMC FREE REGISTRATION

📝REGISTRATION📝 के लिए आवश्यक दस्तावेज की फ़ोटो

🎫  आई डी प्रूफ ( आधार कार्ड – FRONT SIDE PHOTO )  🎫

🎫  पता प्रूफ (आधार कार्ड – BACK SIDE PHOTO )  🎫

🎫  पैन कार्ड फोटो  🎫

🙎‍♀  पासपोर्ट साइज फोटो 🙎‍♀

आप ये सभी DOCOMENTS हमारे WHAT’S UP नंबर 📱 83960-07444📱 पर भेज सकते है जेसे ही आपकी डिटेल्स हमारे पास आएगी हम जल्द ही आपसे कांटेक्ट📞  करेंगे

आप हमारा नीचे दिया गया ONLINE FORM भी भरकर हमें भेज सकते है:

आई.एम.सी में रजिस्टर होने के लिए निचे दिए फॉर्म को भरें जल्द ही हम आपसे कांटेक्ट करेंगे

Title*    

S/D/W of

S/D/W Name

Complete Address

Nominee Information (optional)

[recaptcha]

#imcbusinessyoutube#dgayurvedayoutube#imc#imcproducts

"DG-AYURVEDA-IMC-BUSINESS-WHATS-UP-GROUP-DG-AYURVEDA"

IMC ALOE LIV KARE SYRUP SUGAR FREE

IMC ALOE LIV KARE SYRUP SUGAR FREE

एलो लिव केयर

IMC ALOE LIV KARE SYRUP(SUGAR FREE)-200ML

लीवर टॉनिक सिरप

Contains Extracts of The Followings

• एलोवेरा  Aloevera Aloe barbadensis
• भृंगराज  Bhringraj Eclipta alba
• रक्त पुनर्नवा  Rakt punarnava Boerhaavia diffusa
• भुईआँवला  Bhumiamla Phyllanthus niruri
• पितपापड़ा  Pittpapara Oldenanldia corymbosa
• दारूहल्दी  Daruhaldi Berberis aristata
• रक्तरोहिदा  Raktrohida Tecomella undulate
• कुटकी  Kutaki Picrorhiza kurroa
• कासनी  Kasani Cichorium intybus
• मक्का  Makoy Solanum nigrum
• कालमेघ  Kalmegh Andrographis paniculata
• कचूर  Kachur Curcuma zedoria
• सरपंखा  Sarpankha Tephrocia purpurea
• गिलोए  Giloy Tinospora cordifolia
• अर्जुन  Arjun Terminalia arjuna
• तुलसी  Tulsi। Ocimum sanctum
• नीम  Neem Azadiracta india
• हरितकी  Haritaki Terminalia chebula
• चित्रक  Chitrak Plumbago zeylanica
• आँवला  Amla Emblica officinalis

लाभ:-

  • लीवर की क्रियाशीलता को सुधारते हैं

  • भूख को बढ़ाते हैं।

  • पीलिया

  • हैपेटाइटस

  • तिल्ला (Spleen) के रोगों से लड़ने हेतु विशेष तौर पर निर्मित है।

  • शराब पीने से होने वाली लीवर की बीमारियों में विशेष लाभदायक है।

उपयोग:-

  • युवाओं के लिए2 से 3 चम्मच दिन में तीन बार सेवन करें

  • बच्चों के लिए : 14 से 1 चम्मच दिन में दो बार सेवन करवायें या

    चिकित्सक के निर्देश अनुसार सेवन करें।

IMC FREE REGISTRATION

📝REGISTRATION📝 के लिए आवश्यक दस्तावेज की फ़ोटो

🎫  आई डी प्रूफ ( आधार कार्ड – FRONT SIDE PHOTO )  🎫

🎫  पता प्रूफ (आधार कार्ड – BACK SIDE PHOTO )  🎫

🎫  पैन कार्ड फोटो  🎫

🙎‍♀  पासपोर्ट साइज फोटो 🙎‍♀

आप ये सभी DOCOMENTS हमारे WHAT’S UP नंबर 📱 83960-07444📱 पर भेज सकते है जेसे ही आपकी डिटेल्स हमारे पास आएगी हम जल्द ही आपसे कांटेक्ट📞  करेंगे

आप हमारा नीचे दिया गया ONLINE FORM भी भरकर हमें भेज सकते है:

आई.एम.सी में रजिस्टर होने के लिए निचे दिए फॉर्म को भरें जल्द ही हम आपसे कांटेक्ट करेंगे

Title*    

S/D/W of

S/D/W Name

Complete Address

Nominee Information (optional)

[recaptcha]

#imcbusinessyoutube#dgayurvedayoutube#imc#imcproducts

"DG-AYURVEDA-IMC-BUSINESS-WHATS-UP-GROUP-DG-AYURVEDA"

IMC ALOE MUKTA TABLETS

IMC ALOE MUKTA TABLETS

एलो मुक्ता टैबलेट्स

IMC ALOE MUKTA TABLETS(30 TABLETS)

ब्लड प्रेशर को नियंत्रित करने में मदद करता है।

सम्मिलित सामग्री:-

• एलोवेरा Aloevera : Aloe barbadensis
• ब्राह्मी Brahmi : Centella Asiatica
शंखपुष्पी Shankhpushpi : Convolvulus pluricaulis
* गंजबा Ganjaba : Onosoma bracteatum
• ज्योतिष्मती Jyotishmati : Celastrus Pannifera
• अश्वगंधा Ashwagandha : Withania Somnifera
• अमृत सत् Amrita sat : Tinospora Cordifolia.
• प्रवाल पिष्टी Praval Pishti : Oxide Of Corramrubrum
• मुक्ता पिष्टी Mukta Pishti : Mytilus Margaratferus

यह निम्नलिखित में लाभकारी हैं:-

  • अनिद्रा और बेचैनी से पीड़ित लोगों को तुरंत आराम दिलाती हैं।

  • ब्लडप्रेशर और कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में मदद करती हैं।

  • यह हानिकारक कैमिकल्स और शरीर से अधिक नमक को बाहर निकाल कर ब्लूड-प्रेशर को प्राकृतिक तरीके से नियंत्रित करने में मदद करती हैं।

  • यह जुकाम सिरदर्द उच्च रक्तचाप, हृदय की तेज गति, चक्कर आना और बेहोशी के लक्षणों को नियंत्रित करने में सहायक हैं।

  • रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाती हैं।

  • घावों, जलन बुखारअस्थमा और मानसिक विकारों में प्रभावशाली हैं।

उपयोग:

दिन में दो बार 1-1 टैबलेट्स का सेवन करें या चिकित्सक के निर्देशानुसार इस्तेमाल करें।

IMC FREE REGISTRATION

📝REGISTRATION📝 के लिए आवश्यक दस्तावेज की फ़ोटो

🎫  आई डी प्रूफ ( आधार कार्ड – FRONT SIDE PHOTO )  🎫

🎫  पता प्रूफ (आधार कार्ड – BACK SIDE PHOTO )  🎫

🎫  पैन कार्ड फोटो  🎫

🙎‍♀  पासपोर्ट साइज फोटो 🙎‍♀

आप ये सभी DOCOMENTS हमारे WHAT’S UP नंबर 📱 83960-07444📱 पर भेज सकते है जेसे ही आपकी डिटेल्स हमारे पास आएगी हम जल्द ही आपसे कांटेक्ट📞  करेंगे

आप हमारा नीचे दिया गया ONLINE FORM भी भरकर हमें भेज सकते है:

आई.एम.सी में रजिस्टर होने के लिए निचे दिए फॉर्म को भरें जल्द ही हम आपसे कांटेक्ट करेंगे

Title*    

S/D/W of

S/D/W Name

Complete Address

Nominee Information (optional)

[recaptcha]

#imcbusinessyoutube#dgayurvedayoutube#imc#imcproducts

"DG-AYURVEDA-IMC-BUSINESS-WHATS-UP-GROUP-DG-AYURVEDA"

Yoga And Exercises For Premature Ejaculation

Yoga And Exercises For Premature Ejaculation
शीघ्रपतन के लिए योग और व्यायाम

जब आप स्वस्थ और निरोग रहेगे तभी आपका सेक्सुअल लाइफ भी खुशहाल हो पायेगा । इसलिए आपने दैनिंकचर्या में योग और व्यायाम को शामिल करे । शीघ्रपतन की समस्या से निजात पाने के लिए आप निचे दिए योग अभ्यास कर सकते है ।

  • सर्वांगासन

  • Paschimottanasana पश्चिमोत्तानासन

  • Vajrasana

  • Gomukhasana

  • Viparita Karani Mudra

  • Ustrasana

  • Surya Namaskar

  • Pranayama

  • Anulom Vilom Pranayama

  • Supta Vajrasana

  • Mandukasana

  • Halasana

  • Bhastrika Pranayama

  • Matsyasana

  • Ustrasana

Premature Ejaculation Tips And Techniques

Premature Ejaculation Tips And Techniques

शीघ्रपतन युक्तियाँ और तकनीक

रिलेशनशिप को सफल बनाए रखने के लिए जरूरी है कि दोनों ही पार्टनर यौन क्रिया के दौरान पूरी तरीके से संतुष्ट हों, लेकिन कई पुरुष शीघ्र पतन या अर्ली इजेकुलेशन (Early Ejaculation) की समस्या के चलते महिला को पूर्ण यौन संतुष्टि नहीं दे पाते है जिसकी वजह से वीर्य स्खलित होने के बाद पुरुष तो चरमोत्कर्ष पर पहुँच जाता है लेकिन महिला साथी शीघ्रपतन के चलते ‘क्लाइमेक्स’ यानि की (ऑर्गेज्‍म) तक नहीं पहुंच पाती, जिससे असंतुष्टि, ग्लानी, हीन-भावना, नकारात्मक विचारो का आना एवं अपने साथी के साथ संबंधों में तनाव आना मुमकिन है।

ज्यादातर अध्धयन में पाया गया हैं कि शीघ्र पतन कोई गंभीर बीमारी नहीं है बल्कि एक प्रकार की मानसिक आदत होती है जिसको छोटी छोटी शीघपतन से जुड़े अभ्याश करके आसानी से काबू किया जा सकता है।

1) उचित समय और उचित स्थान का चयन :-

सेक्स के लिए उचित समय और उचित स्थान का चयन करना अत्यंत आवश्यक हैं । ऐसे स्थान और समय का चयन करें जो दोनों सेक्स पार्टनर के लिए प्रतिकूल हों । शांत और रोमांटिक हों जिससे आप और आप का साथी खुल कर enjoy कर सके ।

2) फोरप्ले :-

सेक्स के दौरान फोरप्ले का बहुत महत्तवपूर्ण स्थान है। फोरप्ले से आपके सेक्स में नवीनता आती है। क्या आपको पता है की स्त्री की कामेच्छा पुरुष की कामेच्छा की अपेक्षा थोड़ी देर से जागृत होती है. इसी असमानता को बराबर करने के लिये संभोग के पूर्व कुछ क्रियाएं जैसे चुम्बन,हॉट बाते,बाहों में जकड़ना,सेंसिटिव बॉडी पार्ट्स के साथ खेलना शामिल है जिन्हे फोरप्ले कहा जाता है.। संभोग की प्रक्रिया के पहले अपने पार्टनर को उत्तेजित करने में अधिक समय लगाएं। यदि इस दौरान इरेक्शन हो जाए तो भी चिंतित न हों। सेक्स करने में जल्दबाजी बिलकुल भी न करें। हमेशा याद रखें एक स्त्री को उत्तेजित होने में पुरुष से ज्यादा समय लगता है । यह आपके लिए एक उपयोगी premature ejaculation treatment हो सकता है ।

3) Stop-Start Technique :-

सेक्स संबंध बनाने में कोई जल्दबाजी न करें। संभोग की प्रक्रिया शुरू करने के बाद बीच-बीच में रुकें और फिर शुरू करें जब ऐसा लगे की वीर्य निकलने वाला है तो रुक जाये इस दौरान अपने पार्टनर का चुंबन करें और उसके नाजुक अंगों को सहलाएं। । ऐसा बार-बार करने से वीर्य को लम्बे समय तक रोकने का अभ्यास होता हैं और शीघ्रपतन में लाभ होता हैं। पीड़ित व्यक्ति में वीर्य स्खलन का अंतराल और क्लाइमेक्स के अंतराल को बढ़ाने के लिए यह अभ्यास करने के लिए कहा जाता हैं।

4) Stop Squeeze Technique :-

सेक्स करते समय जब पुरुष को लगे की वीर्य निकलने ही वाला है तब अपने साथी से गुप्तांग / Glans Penis के निचे दबाने को कहे। इतने जोर से दबाए की वीर्य न निकले और दर्द भी न हो। जब ऐसा लगे की अब वीर्य निकलने की इच्छा समाप्त हो गयी है तब छोड़ दे। अब आधा मिनिट रुक कर दोबारा सेक्स करे और जब वीर्य निकलने का एहसास हो तो दोबारा दबाकर रखे। इस तरह यह अभ्यास 8 से 10 बार करे। धीरे-धीरे अभ्यास के साथ वीर्य निकलने का अंतराल बढ़ जाता हैं । यह premature ejaculation treatment in hindi के बेहतरीन तरीकों में से एक हो सकता है ।

5) हस्त मैथुन / Masturbation :-

शीघपतन से पीड़ित पुरुष को सेक्स करने के 1 या 2 घंटे पहले सामान्य हस्तमैथुन करने को कहा जाता है। ध्यान रखे हस्त मैथुन करने के दौरान कोई जल्दबाजी न बरते इससे बाद में सेक्स करते समय जल्द वीर्य स्खलन नहीं होता हैं। यह क्रिया अधिक उम्र के पुरुषों में काम नहीं आती क्योंकि उनमे हस्तमैथुन करने से दोबारा जल्द सेक्स इच्छा जागृत नहीं हो पाती हैं।

6) Kegel Exercise :-

शीघपतन के इलाज के लिए यह व्यायाम काफी फायदेमंद हैं। इसका अभ्याश करने की विधि है – मूत्र विसर्जन करते समय अचानक मूत्र के बहाव को रोक दे और कुछ सेकंड के अंतराल बार फिर मूत्रविसर्जन करे। मूत्र के बहाव को रोकने के लिए जिस मांसपेशियों का इस्तेमाल होता हैं उन पर ध्यान दे। इसमें जांघ, पृष्ठ और पेट के मांसपेशियों को ढीला रखना हैं। रोजाना इन पेशियों की कसरत करने से शीघ्रपतन में लाभ होता हैं।

7) Use Condom | कंडोम का इस्तेमाल :-

शीघपतन के इलाज में कंडोम की भी अहम भूमिका है । कंडोम के इस्तेमाल से लिंग को जल्द संवेदना नहीं मिलती है और उत्तेजना देरी से मिलने से शीघ्रपतन नहीं होता है । लेकिन कंडोम की गुणवत्ता भी देखनी जरुरी है हमेशा अच्छे क्वालिटी के कंडोम का ही इस्तेमाल करे । यह premature ejaculation treatment in hindi के बेहतरीन तरीकों में से एक हो सकता है ।

8) Change Sex Position :-

इरेक्शन समय में सेक्स पोजीशन का भी काफी महत्व हैं । हमेशा ऐशे सेक्स पोजीशन का ही चयन करे । टॉप सेक्स पोजीशन जिसमे पुरुष स्त्री के ऊपर रहता हैं वीर्य स्खलन को आसानी से कण्ट्रोल कर सकता हैं और अपने सेक्स समय को बढ़ा सकता हैं ।

9) Balance Sex date :-

ज्यादा और कम सेक्स दोनों ही उचित नही हैं । इसलिए अपने सेक्स लाइफ में proper balance बना कर रखे । सप्ताह में 1 से 2 बार सेक्स करना उपयुक्त हैं ।

10) habits :-

अपने रोजाना छोटी छोटी आदतों पर भी ध्यान दे । जैसे सुबह उठना, जल्दी सोना, तनावमुक्त रहना, regular health checkup, खान-पान जैसे daily activities को सुनयोजित करके premature ejaculation treatment किया जा सकता हैं ।

11) नशामुक्त जीवन :-

मॉडर्न तौर तरीको में हम इतने खो गये है हमे यह भी ज्ञात नहीं है हमारे लिए क्या सही है और क्या गलत नशा ऐशी चीज है जो हमारे शरीर को खोखला बना देती हैं । सिगरेट शराब तम्बाखू हमारे प्रजनन छमता को कम करती है जिससे शरीर में ढंग से वीर्य नहीं बन पाता है । शीघपतन से छुटकारा पाने के लिए नशामुक्त जीवन जीने की आदत डालना जरुरी हैं