TULSI HEALTH BENEFITS AND USES IN DENTITION

TULSI HEALTH BENEFITS AND USES IN DENTITION

दांत निकलना :

  • तुलसी के पत्तों का रस शहद में मिलाकर बच्चे के मसूढ़े पर लगाने से और थोड़ा सा चटाने से दांत निकलते समय होने वाला दर्द ठीक हो जाता है।
  • तुलसी के पत्तों का चूर्ण अनार के शर्बत के साथ बच्चे को पिलाने से दांत निकलते समय का दर्द दूर होता है और दांत आसानी से निकल आते हैं।

TULSI HEALTH BENEFITS AND USES IN LOOSE MOTION/DIARRHOEA IN CHILDRENS

TULSI HEALTH BENEFITS AND USES IN LOOSE MOTION/DIARRHOEA IN CHILDRENS

बच्चों के दस्त :

तुलसी और पान का रस समान मात्रा में गर्म करके बच्चे को पिलाने से दस्त साफ होता है। इससे पेट फूलना तथा अफारा भी ठीक होता है।

TULSI HEALTH BENEFITS AND USES IN MIGRAINE

TULSI HEALTH BENEFITS AND USES IN MIGRAINE

आधे सिर का दर्द (माइग्रेन) :

  • चौथाई चम्मच तुलसी के पत्तों का चूर्ण शहद के साथ प्रतिदिन सुबह-शाम सेवन करने से आधे सिर का दर्द दूर होता है।
  • यदि आधे सिर का दर्द सूर्योदय के साथ शुरू होता है और सूर्यास्त के साथ समाप्त होता है तो एक चौथाई चम्मच तुलसी के बीजों को पीसकर शहद में मिलाकर सेवन करें। इसके सेवन से आधे सिर का दर्द ठीक होता है।
  • तुलसी के 11 पत्ते और 11 कालीमिर्च मिलाकर खाने से सिर दर्द दूर होता है। इसे सूंघने से माईग्रेन (आधे सिर का दर्द) ठीक होता है।

TULSI HEALTH BENEFITS AND USES IN DIGESTION

TULSI HEALTH BENEFITS AND USES IN DIGESTION

अग्निमांद्य (पाचनशक्ति का कमजोर होना) :

तुलसी के ताजे पत्तों को पीसकर पानी में मिलाकर प्रतिदिन भोजन करने के बाद पीएं। इससे कब्ज दूर होकर पाचनशक्ति मजबूत होती है। प्रतिदिन भोजन करने के बाद केवल तुलसी के 5 पत्ते सेवन करने से भोजन आसानी से पच जाता है।

TULSI HEALTH BENEFITS AND USES IN SAFETY FROM DISEASE

TULSI HEALTH BENEFITS AND USES IN SAFETY FROM DISEASE

रोगों से बचाव :

चाय के स्थान पर तुलसी के पत्तों को चाय की तरह बनाकर प्रतिदिन सेवन करने से अनेक प्रकार के रोगों से बचाव होता है और शरीर भी स्वस्थ रहता है।