IMC TREATMENT FOR LOW BLOOD CHOLESTEROL-कम रक्त कोलेस्ट्राल

IMC TREATMENT FOR LOW BLOOD CHOLESTEROL-कम रक्त कोलेस्ट्राल

लक्षण:

  • अवसाद, तनाव, पारकिन्सन।

  • याददाश्त कमजोर होना ।

सुझाव:

  • दूध, दूध से बने पदार्थ, बादाम, अखरोट,प्रोटीन, मछली।

  • लौकी व करेले के सूप का सेवन करें।

  • ताजे फल व हरी सब्जियों का इस्तेमाल करें।

उपचार:

  • 30-30 मि.ली. एलो संजीवनी जूस + जीवन शक्ति रस + श्री तुलसी 2-2 बूँदे सुबह व शाम खाली पेट सेवन करें।

  • टैबलेट एलो स्पिारूलिना 1 सुबह 1 शाम सेवन करें।

  • टैबलेट सुपर नौरिश मोरिंगा 1 सुबह 1 शाम सेवन करें।

  • टैबलेट वीटा डाईट 1 सुबह 1 शाम सेवन करें।

  • टैबलेट लिव केयर 1 सुबह 1 शाम सेवन करें।

Click Here To Get All Products Upto 18-40% DISCOUNT At Your Location#imcregistration#imchealthcard#joinincbusiness#dgayurveda

Click Here to join US for daily health updates,imc produts details,treatments etc……
#imcbusinessinstagram#dgayurvedaINSTAGRAM-FOLLOW-GIF
imcbusinessfacebook#dgayurvedafacebook#imcproductsfacebook#imcbusinessgoogleplus#dgayurvedagoogleplus#imcproducts#imcbusinesstwitter#dgayurvedatwitter#imcproducts  #imcbusinessyoutube#dgayurvedayoutube#imc#imcproducts

 

 

Click Here To Start Your Own Business/Open Own Ayurvedic Store/Work Part Time Or Full
#imcbusiness#dgayurveda#imcproducts#joinimcbusiness

IMC TREATMENT FOR HIGH BLOOD CHOLESTEROL-अधिक रक्त कोलेस्ट्रॉल

IMC TREATMENT FOR HIGH BLOOD CHOLESTEROL-अधिक रक्त कोलेस्ट्रॉल

लक्षण :

  • थोड़ा चलने पर हृदय की गति का बढ़ना।

  • हृदय स्थान पर भारीपन रहना ।

सुझाव:

  • तले हुऐ, घी युक्त तथा पशुजनित खाद्य पदार्थ का सेवन न करें।

  • सुबह की सैर, व्यायाम तथा योगा करें।

  • रेशेदार (Fibres) खाद्य (चोकर समेत आटे को रोटी, छिलके समेत दालें, टमाटर, गाजर, अमरूद, हरी पत्तेदार सब्जियाँ, पत्तागोभी इत्यादि) का सेवन करें।

  • काला चना रात को भिगो दें प्रातः उसका पानी पीने तथा चने खाने से बहुत लाभ होता है।

उपचार:

  • 30-30 मि.ली. एलोवेरा जूस + हिमालयन बेरी जूस + श्री तुलसी बूँदे सुबह व शाम खाली पेट सेवन करें।

  • टैबलेट गार्लिक पयोर 1 सुबह 1 शाम सेवन करें।

  • टैबलेट टरू हैल्थ 1 सुबह 1 शाम सेवन करें।

  • टैबलेट मोरिंगा 1 सुबह 1 शाम सेवन करें ।

  • टैबलेट हार्ट स्ट्राँग 1 सुबह 1 शाम सेवन करें।

  • फलैक्स सीड्स 10 ग्राम दिन 2 बार सेवन करें।

Click Here To Get All Products Upto 18-40% DISCOUNT At Your Location#imcregistration#imchealthcard#joinincbusiness#dgayurveda

Click Here to join US for daily health updates,imc produts details,treatments etc……
#imcbusinessinstagram#dgayurvedaINSTAGRAM-FOLLOW-GIF
imcbusinessfacebook#dgayurvedafacebook#imcproductsfacebook#imcbusinessgoogleplus#dgayurvedagoogleplus#imcproducts#imcbusinesstwitter#dgayurvedatwitter#imcproducts  #imcbusinessyoutube#dgayurvedayoutube#imc#imcproducts

 

 

Click Here To Start Your Own Business/Open Own Ayurvedic Store/Work Part Time Or Full
#imcbusiness#dgayurveda#imcproducts#joinimcbusiness

IMC TREATMENT FOR LOW BLOOD PRESSURE-निम्न रक्तचाप

IMC TREATMENT FOR LOW BLOOD PRESSURE-निम्न रक्तचाप

लक्षण:

  • नींद ज्यादा आना

  • थकावट

  • जी मचलाना

  • चक्कर आना

  • सिर घूमना

  • साफ दिखाई न देना

  • कमज़ोरी महसूस होना

  • हृदय गति का बढ़ जाना

  • बेहोश हो जाना।

सुझावः

  • नियमित मात्रा में जल सेवन करें ।

  • अधिक देर तक खड़े न रहें।

  • निम्न रक्तचाप होने पर बैठ जाय अथवा लेट जाये ।

  • दूध, दही, ताजे फल, हरी सब्जियों का सेवन करें।

  • सूखे मेवे का सेवन करें।

उपचार:

  • 30-30 मि.ली. एलोवेरा जूस + एलो नोनी जूस + जीवन शक्ति रस + श्री तुलसी 2-2 बूँदे सुबह व शाम खाली पेट सेवन करें।

  • टैबलेट डेली डाईट 1 सुबह 1 शाम सेवन करें।

  • टैबलेट टरू हैल्थ 1 सुबह 1 शाम सेवन करें।

  • टैबलेट मोरिंगा 1 सुबह 1 शाम सेवन करें।

  • टैबलेट एलो मुक्ता 1 सुबह 1 शाम सेवन करें।

  • टैबलेट वीटा डाईट 1 सुबह 1 शाम सेवन करें।

निम्न रक्तचाप के रोगियों हेतु निर्देशन:

निदान:

  • कम कार्बोहाइड्रेट युक्त भोजन कम मात्रा में दिन में कई बार लें, ये भोजन के उपरान्त रक्तचाप के अचानक से गिरते स्तर को नियंत्रित करेगा। कार्बोहाइड्रेट की अधिकता वाले पदार्थ जैसेः आलू, चावल, पास्ता, ब्रेड, नियंत्रित मात्रा में लें।

  • चिकित्सक के परामर्शानुसार भोजन के साथ कॉफी या चाय लें । ये रक्तचाप को कम होने से रोकता है। भोजन में नमक की मात्रा बढ़ाएं, सामान्यता भोजन में ज्यादा नमक न लेने का परामर्श दिया जाता है जो निम्न रक्तचाप से ग्रसित रोगी के लिये नमक काफी सहायक है। नमकीन भोजन लेने से पूर्व चिकित्सक से परामर्श अवश्य लें।

अधिक पानी पियें:

  • शरीर के उपयुक्त संचालन के लिए जल अतिआवश्यक है।

  • अधिक पानी पीने से शरीर में पानी की कमी भी नहीं होती है। बार बार चक्कर आने की स्थिति में पानी अधिक पीना शुरू करें।

घरेलू उपचार:

  • दिन में दो बार 1 कप पालक, चने और घीये का सूप ले ।

  • निम्न रक्तचाप से ग्रसित रोगी के लिए एक सर्वश्रेष्ठ घरेलू उपचार है।

  • 1 कप कड़क ब्लैक कॉफी पीना भी लाभदायक हो सकता है।

नियमित रूप से अपनाएं:

  • कम भोजन लें।

  • भोजन को अच्छी तरह चबाएं।

  • भोजन धीरे धीरे लें।

  • भोजन लेने के पश्चात् 2-3 मिनट अवश्य घूमें।

Click Here To Get All Products Upto 18-40% DISCOUNT At Your Location#imcregistration#imchealthcard#joinincbusiness#dgayurveda

Click Here to join US for daily health updates,imc produts details,treatments etc……
#imcbusinessinstagram#dgayurvedaINSTAGRAM-FOLLOW-GIF
imcbusinessfacebook#dgayurvedafacebook#imcproductsfacebook#imcbusinessgoogleplus#dgayurvedagoogleplus#imcproducts#imcbusinesstwitter#dgayurvedatwitter#imcproducts  #imcbusinessyoutube#dgayurvedayoutube#imc#imcproducts

 

 

Click Here To Start Your Own Business/Open Own Ayurvedic Store/Work Part Time Or Full
#imcbusiness#dgayurveda#imcproducts#joinimcbusiness

IMC TREATMENT FOR HIGH BLOOD PRESSURE-उच्च रक्तचाप

IMC TREATMENT FOR HIGH BLOOD PRESSURE-उच्च रक्तचाप

लक्षण:

  • चिड़चिड़ापन, नींद न आना, बेचैनी, सिर दर्द, छाती में दर्द।

  • हृदय की गति का अत्यधिक बढ़ जाना।

  • चक्कर आना, घबराहट तथा थकावट महसूस होना।

  • गर्दन के पिछले भाग में दर्द रहना।

सुझाव:

  • यथाशक्ति कुछ दिन रसाहार (अनार, गाजर व आँवले का जूस, नारियल पानी, नींबू एवं हर्बल शहद मिला जल) फिर कुछ दिन अधपके (फल, सलाद, अंकुरित अनाज) भोजन का सेवन करें।

  • मल्टीग्रेन आटे से बनी रोटी तथा मौसम अनुसार सब्जी का सेवन करें।

  • सुबह को हर्बल शहद के साथ कच्चे लहसुन का सेवन करें।

  • विटामिन सी एवं पोटाशियम प्रधान भोजन का सेवन करें।

  • अत्यधिक तेल, मिर्च, मसाले, नमक युक्त भोजन का सेवन न करना।

  • शारीरिक वजन को नियमित रखें ।

उपचार:

  • 30-30 मि.ली. एलोवेरा जूस + हिमालयन बेरी जूस + हर्बल गौमूत्र + श्री तुलसी 2-2 बूँदे सुबह व शाम खाली पेट सेवन करें।

  • टैबलेट हार्ट स्ट्राँग 1 सुबह 1 शाम सेवन करें।

  • टैबलेट टरु हैल्थ 1 सुबह 1 शाम सेवन करें।

  • टैबलेट मोरिंगा 1 सुबह 1 शाम सेवन करें।

  • टैबलेट एलो मुक्ता 1 सुबह 1 शाम सेवन करें।

सुबह उठनाः

सुबह उठकर बिना कुल्ला किये खाली पेट 30 मि.ली एलोवेरा, 30 मि.ली हिमालयन बेरी को पानी में मिलाकर धीरे धीरे पियें ।

नाश्ता:

हर्बल दलिया, फल, लौकी या काले चने का सूप।

दोपहर के भोजन से पहले:

फल चीकू, सेब या पपीता ।

दोपहर:

1 कटोरी चावल,2-3 रोटी,1/2 कटोरी दाल, 1 कटोरी सब्जी तथा सलाद।

शामः

1 कप हर्बल चाय या सब्जियों का सूप।

रात्रि भोजन:

1 कटोरी सब्जी, 1 से 2 पतली रोटी, सलाद ।

सोने से आधा घंटा पहलेः

1 कप बिना मलाई का दूध + मसले 2-3 लहसुन ।

रक्तचाप को नियंत्रित करने हेतु:

उच्च रक्तचाप को बढ़ाने वाले कारक: सामान्य रक्तचाप 120/80 MMHG होता है। इससे अधिक बढ़ा हुआ रक्तचाप घातक है। रक्तचाप से ग्रसित रोगी को समय समय पर रक्तचाप की जांच डॉक्टर से करवाते रहना चाहिये।

उच्च रक्तचाप सम्बन्धित बीमारी होने के निम्न कारण हो सकते हैं:

  • प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष धूम्रपान

  • मधुमेह से ग्रसित

  • हाईपरटेंशन की पारिवारिक पृष्टभूमि

  • वजन का बढ़ना

  • शारीरिक श्रम ना करना

  • आरामदायक जीवनयापन।

  • 45 वर्ष से अधिक आयु के पुरुषों में ।

  • 55 वर्ष से अधिक आयु की महिलाओं में।

  • गर्भनिरोधक दवाईयों का प्रयोग करने से।

  • वसा / कोलेस्ट्रॉल की मात्रा अनियन्त्रित होने से।

  • मदिरा पान करने से।

आहार जो नहीं लेना है:

रक्तचाप के रोगी को अचार, बिस्किट, पेस्ट्री, नमकीन, अण्डा, डिब्बाबंद खाना, अधिक मक्खन आदि नहीं लेना चाहिए।

Click Here To Get All Products Upto 18-40% DISCOUNT At Your Location#imcregistration#imchealthcard#joinincbusiness#dgayurveda

Click Here to join US for daily health updates,imc produts details,treatments etc……
#imcbusinessinstagram#dgayurvedaINSTAGRAM-FOLLOW-GIF
imcbusinessfacebook#dgayurvedafacebook#imcproductsfacebook#imcbusinessgoogleplus#dgayurvedagoogleplus#imcproducts#imcbusinesstwitter#dgayurvedatwitter#imcproducts  #imcbusinessyoutube#dgayurvedayoutube#imc#imcproducts

 

 

Click Here To Start Your Own Business/Open Own Ayurvedic Store/Work Part Time Or Full
#imcbusiness#dgayurveda#imcproducts#joinimcbusiness