IMC SHRI TULSI USES IN CHILDREN’S

IMC SHRI TULSI USES IN CHILDREN’S

IMC SHRI TULSI -श्री तुलसी

“श्री तुलसी पीएं, निरोग जीएं”

(पांच तरह के तुलसी का सत्)

IMC SHRI TULSI

GET IMC SHRI TULSI ON DISCOUNT PRICE ON FREE REGISTRATION

IMC FREE REGISTRATION

📝REGISTRATION📝 के लिए आवश्यक दस्तावेज की फ़ोटो

🎫  आई डी प्रूफ ( आधार कार्ड – FRONT SIDE PHOTO )  🎫

🎫  पता प्रूफ (आधार कार्ड – BACK SIDE PHOTO )  🎫

🎫  पैन कार्ड फोटो  🎫

🙎‍♀  पासपोर्ट साइज फोटो 🙎‍♀

आप ये सभी DOCOMENTS हमारे WHAT’S UP नंबर 📱 83960-07444📱 पर भेज सकते है जेसे ही आपकी डिटेल्स हमारे पास आएगी हम जल्द ही आपसे कांटेक्ट📞  करेंगे

आप हमारा नीचे दिया गया ONLINE FORM भी भरकर हमें भेज सकते है:

आई.एम.सी में रजिस्टर होने के लिए निचे दिए फॉर्म को भरें जल्द ही हम आपसे कांटेक्ट करेंगे

Title*    

S/D/W of

S/D/W Name

Complete Address

Nominee Information (optional)

[recaptcha]

तुलसी मुख्य रूप से पांच प्रकार के पायी जाती है:-

1. श्याम तुलसी

2. राम तुलसी

3. नींबू तुलसी

4. वन तुलसी

5. श्वेत/विश्नू तुलसी

इन पांच प्रकार की तुलसी विधि द्वारा सत् निकाल कर श्री तुलसी का निर्माण किया गया है ।
तुलसी को इंग्लिश में होली बेसिल(holy basil)के नाम से जाना जाता है हिंदी में इसका नाम तुलसी है जिसका अर्थ होता है अतुलनीय अर्थात जिसकी किसी से तुलना न की जा सके इसके गुणों को देखते हुए तुलसी को जड़ी बूटियों में जड़ी बूटियों की रानी माना जाता है तुलसी में सबसे बढ़िया एंटीऑक्सीडेंट(anti-oxidant), एंटीइंफ्लेमेटरी(anti-inflammatory), एंटीवायरल(anti-viral), एंटीएलर्जीक(anti-allergic) और एंटीडिजीज(anti-disease)

गुण है।

IMC SHRI TULSI -श्री तुलसी   का प्रयोग 200 से अधिक बीमारियों में किया जाता है जैसे कि फ़्लू,स्वाइन फ्लू सभी तरह के बुखार जैसे कि डेंगू, मलेरिया,टाइफाइड,चिकनगुनिया आदि खांसी, जुकाम, जोड़ों का दर्द, ब्लड प्रेशर, मोटापा, शुगर, एलर्जीक हेपेटाइटिस, पेशाब संबंधी समस्या, वात के रोग, नकसीर, फेफड़ों में सूजन, अल्सर, तनाव, वीर्य की कमी, थकान, भूख में कमी, उल्टी

बच्चों की समस्याओं में श्री तुलसी का प्रयोग:-

बच्चों को होने वाली समस्याओं जैसे कि खांसी, जुकाम, उल्टीदस्त आदि में श्री तुलसी बहुत अधिक लाभदायक है

imc-shri-tulsi-uses-in-children-dg-ayurveda

    imc-shri-tulsi-uses-in-children-dg-ayurveda

चिकन पॉक्स(CHICKEN POX) में श्री तुलसी बहुत अधिक लाभदायक है इसका प्रयोग शहद के साथ करना चाहिए

Imc-shri-tulsi-chikenpox-childerns-dg-ayurveda
Imc-shri-tulsi-chikenpox-childerns-dg-ayurveda

यदि एक बच्चे को दांत निकालने से पूर्व श्री तुलसी प्रतिदिन  दी जाए तो दांत निकलते समय होने वाली परेशानी में बच्चे को लाभ मिलता है दांत आसानी से निकल आते हैं मसूड़ों को श्री तुलसी में शहद मिलाकर उसकी मसाज भी की जा सकती है।

Imc-shri-tulsi-child’s-teeth-dg-ayurveda
Imc-shri-tulsi-child’s-teeth-dg-ayurveda

IMC SHRI TULSI –श्री तुलसी  में शहद मिलाकर देने से बच्चों को खांसी तथा गले में खराश(SORE THROAT)में लाभमिलता है।

imc-shri-tulsi-sore-throat-in-children’s-dg-ayurveda
imc-shri-tulsi-sore-throat-in-children’s-dg-ayurveda

गर्म पानी में श्री तुलसी देने से पेट के कीड़ों से राहत मिलती है।

imc-shri-tulsi-for-intestinal-worms-in-childrens-dg-ayurveda
imc-shri-tulsi-for-intestinal-worms-in-childrens-dg-ayurveda

दाद, खुजली और त्वचा की अन्य समस्याआओं के लिए तुलसी की बूंदों को एलो जेल में मिलाकर प्रभावित जगह पर लगाने सेकुछ दिनों में यह रोग दूर हो सकता है।

imc-shri-tulsi-for-skin-disorders-in-children’s
imc-shri-tulsi-for-skin-disorders-in-children’s

श्री तुलसी को शरीर पर मल कर सोने से मच्छर नहीं काटते।

imc-shri-tulsi-for-mosquitoes-dg-ayurveda
imc-shri-tulsi-for-mosquitoes-dg-ayurveda

तुलसी को शहद में मिलाकर प्रतिदिन पीने से स्मरण शक्ति बढ़ती है और बुद्धि विकसित होती है।

imc-shri-tulsi-for-memory-power-in-children-dg-ayurveda
imc-shri-tulsi-for-memory-power-in-children-dg-ayurveda

छोटे बच्चों को श्री तुलसी में मिश्री घोलकर सुबह देने से बच्चों की उल्टी, दस्त, खांसी,सर्दी और जुकाम में आराम मिलता है।

imc-shri-tulsi-in-child-disorders-dg-ayurveda
imc-shri-tulsi-in-child-disorders-dg-ayurveda

जुकाम, छींके, सिरदर्द, बुखार, दमा आदि में श्री तुलसी की दो बूँदे शहद में मिलाकर लेने से बहुत लाभ होता है।

imc-shri-tulsi-in-child-disorders-dg-ayurveda
imc-shri-tulsi-in-child-disorders-dg-ayurveda
imc-shri-tulsi-in-child-disorders-dg-ayurveda
imc-shri-tulsi-in-child-disorders-dg-ayurveda

श्री तुलसी और नीम्बू का रस समान मात्रा में मिलाकर रात्रि में सिर के बालों में अच्छी तरह से लगाकर सुबह बाल धोने से सिर कीजुएं और लीखें मर जाती हैं।

imc-shri-tulsi-in-child-disorders-dg-ayurveda
imc-shri-tulsi-in-child-disorders-dg-ayurveda

श्री तुलसी के बारे में सभी डिटेल्ज़ यहाँ से पढ़ें :-

http://dgayurveda.com/imc_products/health-care-products-hindi/imc-tulsi-ark/

Write a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *