TULSI HEALTH BENEFITS AND USES IN SWEELING AND TUMOURS OF THE EAR

कान की सूजन व गांठ :

तुलसी के पत्ते और एरण्ड के ताजे मुलायम पत्ते बराबर मात्रा में मिलाकर पीस लें और फिर इसमें थोड़ा सा नमक मिलाकर कान के पीछे लगाएं। इससे कान की सूजन दूर हो जाती है और गांठे ठीक होती है। इसका उपयोग कनफेडा रोग में भी किया जाता है।

Write a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *